एक पिता का अपने बेटे से विनम्र निवेदन

IMG_20170716_082254

प्रिय बेटे,

जिंदगी के सफर में तुझे, अनेकों लोग मिलेंगें।
कई खुदा तो, कई शैतान मिलेंगें।
बहुत भीड़ है पहले से ही, जन्नत और नरक में प्यारे।
दोनों जगह तुझे सिर्फ ‘हाऊस-फुल’ के बोर्ड मिलेंगें।

तू कभी खत्म ना होने वाली उस लाईन का हिस्सा ना बन,
बनना ही है तो अमन-चैन का प्रतीक, एक नेक दिल ‘साधारण’ इंसान बन।

-हेप्पी प्रेग्नेंसी ग्लोबल इनिशियेटिव