दूग्धपान के पश्चात् शिशु को डकार क्यों दिलवाना आवश्यक होता है ? (Why is it important to burp the baby after breast feeding?)

दूग्धपान के पश्चात् शिशु को डकार क्यों दिलवाना आवश्यक होता है ? (Why is it important to burp the baby after breast feeding?)

crying-3s

Read in English

दूग्धपान के पश्चात् शिशु को डकार क्यों दिलवाना आवश्यक होता है ?

गले में एक स्थान पर श्वासनली व आहारनली आपस में मिलकर नेसो-ओरो फेरिंक्स बनाते हैं। शिशु जब दूध पीता है, तो वह हवा भी गटक जाता है।

aerophagia

हवा हल्की होने के कारण जब प्रेशर से बाहर आती है, तो साथ ही दूध भी मतली के माध्यम से फेफड़े में जाकर निमोनिया पैदा कर सकता है, जो कि शिशु के लिए प्राणघातक हो सकता है।

दूग्धपान के पश्चात् शिशु को डकार दिलवाने से

  • दूध फेफड़ो में जाकर निमोनिया होने की संभावना नहीं होती।
  • हवा निकल जाने से पेट पुनः हल्का हो जाता है, जिसके फलस्वरुप शिशु और दूग्धपान कर पाता है।

सूचनाः

उक्त जानकारियाँ गर्भावस्था और शिशुपालन संबंधित विषयों पर सामाजिक जागरुकता पैदा करने हेतु साझा की गई हैं, ताकि, उनकी सुरक्षा सुनिश्चित कर माँ एवं शिशु मृत्यु दर कम की जा सके। लेखक द्वारा सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया गया है, कि दर्शाई गई जानकारियाँ प्रामाणिक स्त्रोत्र से सही प्राप्त की गई हों। हालांकि उन के पालन से पहले अपने स्वास्थ अधिकारी से अवश्य चर्चा करें। 



Why is it important to burp the baby after breast feeding?

The Oropharynx  and Nasopharynx unites at Hypopharynx. As a result, while deglutition, the baby gulps the air along with the milk.

If we do not burp the baby then the milk along with the air would regurgitate out with force in the form of vomitus, which can spill into the respiratory tract causing fatal aspiration pneumonia.

aerophagia

When we burp the baby:

  • The air being lighter burps out and reduces the chances of regurgitation of milk causing Aspiration Pneumonia.
  • The burped out air, decompresses the stomach and hence the baby is able to feed more.

Disclaimer:

The information is shared to create awareness towards Pregnancy and Childcare to reduce maternal and child deaths. Atmost care has been taken by the author to include the verified information from authentic sources. However, kindly discuss the same with your health care provider before implementation.