8 सप्ताह – पूंछ का अंत, शारिरिक क्रियाओं का शुभारंभ! (8 weeks – Useless Tail gone, Vital Functions on!)

8 सप्ताह – पूंछ का अंत, शारिरिक क्रियाओं का शुभारंभ! (8 weeks – Useless Tail gone, Vital Functions on!)

8-weeks

Read in English

आपका शिशु अभी लगभग 1.5 सेंटिमीटर के आकार का होगा।

अर्थहीन पूँछ गायब होने के साथ ही अब वह कतई भी मेढक के बच्चे के समान नहीं दिखता है। संभवतः मनुष्य में पूँछ की उपयोगिता का अभाव उसके भ्रूण में होने वाले इस अनुकूल परिवर्तन का कारण और क्रमिक विकास का सूचक हैं।

उसके मस्तिष्क में कोरॉईड प्लेक्सस विकसित हो रहे होंगे जो कि विशिष्ट सेरेब्रोस्पाईनल फ्लूईड का निर्माण करते हैं। यह केंद्रिय नाड़ी तंत्र (मस्तिष्क और मेरुदंड) को आघात से बचाता है।

थायमस ग्रंथी के साथ ही उसकी प्रतिरोधक क्षमता का विकास प्रारंभ हो गया होगा।

आपके शिशु में अभी एड्रेनल ग्रंथी का विकास चल रहा होगा। यह रक्तचाप और हार्मोन का संतुलन बनाए रखने में अतिमहत्वपूर्ण योगदान निभाती हैं।

हृदय और दोनों फेफड़े अपने सामान्य स्थान पर अवतरित हो चुके होंगें। उसके हृदय की संयुक्त मुख्य निकास नली दौ भागों (एओर्टा और पलमोनरी आर्टरी) में विभाजित हो चुकी होगी ताकि शुद्ध और अशुद्ध रक्त प्रथक प्रवाह कर सकें।

उसके प्रायः सभी अंगों ने अपना कार्य प्रारंभ कर दिया होगा।

यहां तक कि अब तो उसके हाथ-पैरों के मुख्य जोड़ों को सरलता से सोनोग्रॉफी में देखना संभव होगा।

आपके शिशु ने अपने जीवन का लुत्फ उठाने हेतु दो इंद्रियाँ और विकसित कर ली हैं – स्वाद और सूँघने की क्षमता।

  • उसकी जिव्हा में स्वादकलिका विकसित हो गई होंगी।
  • उसकी नसिका संबंधित नस मस्तिष्क में प्रवेश कर उसे सूँघने की क्षमता प्रदान करती है।

उसके चेहरे की संरचना पूर्णतः विकसित हो रही है।

अमाशय और आंतें अपनी सामान्य संरचना प्राप्त कर रही होंगी। अग्न्याशय के विकास के साथ ही भोजन पचाने और उर्जा के संवहन की क्षमता विकसित हो गई होगी।

आपको अपने पूरे शरीर पर सूजन, पेट में फूलापन, स्तन के आकार में वृद्धि और दर्द इत्यादि का अनुभव हो सकता है। यह शरीर में पानी के अधिक संवहन के कारण होता है। गर्भावस्था में प्रोजेस्ट्रॉन हार्मोन के प्रभाव में शरीर अतिरिक्त पानी सोकता है, ताकि खून अधिक पतला होने से सरलता से शिशु को प्राप्त हो सके।

सूचनाः

उक्त जानकारियाँ गर्भावस्था और शिशुपालन संबंधित विषयों पर सामाजिक जागरुकता पैदा करने हेतु साझा की गई हैं, ताकि, उनकी सुरक्षा सुनिश्चित कर माँ एवं शिशु मृत्यु दर कम की जा सके। लेखक द्वारा सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया गया है, कि दर्शाई गई जानकारियाँ प्रामाणिक स्त्रोत्र से सही प्राप्त की गई हों। हालांकि उन के पालन से पहले अपने स्वास्थ अधिकारी से अवश्य चर्चा करें। 



 

8 weeks – Useless Tail gone, Vital Functions on!

Your baby measures around 1.5 cm.

The baby looses its tadpole appearance as its tail disappears. The evolutionary disappearance of tail indicates embryonic adaptation to get rid of a vestigial organ.

In brain the choroid plexus begin to form, that would produce the cerebrospinal fluid to protect the central nervous system (brain and spinal cord)

The immune system of your baby begins to develop with the appearance of Thymus gland.

One of the most vital organ, Adrenal (Suprarenal gland ) develops. It plays very crucial role in regulating blood pressure and body’s chemical & hormonal equilibrium.

Its heart and lungs have descended into their normal position, thorax. The common outflow tract of the heart separates into aorta and pulmonary artery to facilitate separation blood flow of oxygenated and deoxygenated blood.

All its organs have begun to function.

In fact by now, its major limb joints would be visible on ultrasonography.

Your baby develops two important senses to enjoy life – taste and smell.

  • The appearance of taste buds in tongue.
  • The olfactory cranial nerve enters brain to develop the sense of smell.

The facial structures develops.

The intestines and stomach are taking their normal anatomical position. The pancreas develop that would help in digestion and glucose metabolism by producing insulin.

You may experience bloating sensation, heaviness in breasts and puffiness all over body. It is probably due to water retention. In Pregnancy, the progesterone hormone leads to water retention, so that blood remains thin and flow easily to ensure the adequate blood supply to baby.

Disclaimer:

The information is shared to create awareness towards Pregnancy and Childcare to reduce maternal and child deaths. At most care has been taken by the author to include the verified information from authentic sources. However, kindly discuss the same with your health care provider before implementation.